Connect with us

खेल

पिता के निधन के बाद मोहम्मद सिराज ने उठाया ये कठोर कदम, सौरव गांगुली भी हुए भावुक

Published

on

मुंबई: टीम इंडिया के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) भारतीय टीम के साथ ऑस्ट्रेलिया दौरे पर हैं और अभ्यास सत्र में जमकर पसीना बहा रहे हैं. इसी बीच सिराज के लिए दिल दहलाने वाली खबर आई कि उनके पिता का इंतकाल हो गया है. लेकिन इस युवा गेंदबाज ने टीम के साथ ही रहने का फैसला किया है. बीसीसीआई ने एक बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी है.

बीसीसीआई (BCCI) ने बताया कि बोर्ड ने उनसे चर्चा कर स्वदेश वापस लौटने का प्रस्ताव दिया था लेकिन सिराज ने इस प्रस्ताव को ठुकरा ऑस्ट्रेलिया में रहने का ही फैसला किया है.

बीसीसीआई ने बयान में कहा, ‘भारतीय टीम के तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज ने अपने पिता को खो दिया. बीसीसीआई ने सिराज के साथ बात की और उन्हें स्वदेश जा दुख के समय में अपने परिवार के साथ रहने का प्रस्ताव दिया’.

बयान के मुताबिक, ‘तेज गेंदबाज ने टीम के साथ रहने का फैसला किया है. बीसीसीआई उनका दुख समझती है और इस मुश्किल दौर में उनका साथ देगी’.

बीसीसीआई ने साथ ही मीडिया से कहा है कि वह इस मुश्किल समय में सिराज की निजता का सम्मान करें.

बीसीसीआई के प्रमुख और भारतीय टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली (Saurav Ganguly) ने सिराज के पिता के इंतकाल पर शोक व्यक्त किया है और मजबूत मानसिकता दिखाने के लिए हैदराबाद के इस तेज गेंदबाज की सराहना की.

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘मोहम्मद सिराज को इस परिस्थिति का सामना करने के लिए मजबूती मिले. मैं इस दौरे पर उनकी सफलता के लिए शुभकामनाएं देता हूं जबरदस्त जीवटता’.

एक क्रिकेटर के रूप में सिराज की सफलता में उनके ऑटो चालक पिता की अहम भूमिका रही, उन्होंने सीमित संसाधनों के बावजूद उन्होंने अपने बेटे की महत्वाकांक्षाओं का समर्थन किया.

सिराज (Mohammed Siraj) आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर (RCB) के लिए खेलते हैं. क्लब ने ट्विटर के माध्यम से सिराज के साथ अपना दुख साझा किया.

सिराज भारतीय टेस्ट टीम में शामिल हैं और अभी सिडनी क्वारंटीन हब में हैं. कोविड सम्बंधी प्रतिबंधों के कारण वह अपने पिता के अंतिम संस्कार के लिए भारत नहीं लौट सकेंगे.

(इनपुट-आईएएनएस)



Source link

खेल

Mohammad Hafeez ने Ramiz Raja की तुलना अपने 12 साल के बेटे से क्यों की? जानिए वजह

Published

on

By

नई दिल्ली: पाकिस्तान के पूर्व कप्तान रमीज राजा (Ramiz Raja) और सीनियर ऑलराउंडर मोहम्मद हफीज (Mohammad Hafeez) के बीच एक मुद्दे को लेकर जुबानी जंग देखने को मिली. हफीज और शोएब मलिक अब रिटायरमेंट के कगार पर हैं ऐसे में रमीज राजा का मानना है कि टी-20 वर्ल्ड कप 2021 तक इन दोनों खिलाड़ियों को मौका नहीं दिया जाना चाहिए. हफीज को रमीज की ये बात पसंद नहीं आई और उन्होंने इस बात पर पलटवार किया है.

यह भी पढ़ें- Gautam Gambhir बोले, ‘Virat Kohli और Rohit Sharma की कप्तानी में बड़ा फर्क’

मोहम्मद हफीज और शोएब मलिक लंबे वक्त से पाकिस्तान क्रिकेट टीम का हिस्सा रहे हैं. हफीज ने हाल में ही इंग्लैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज में बेहतरीन प्रदर्शन किया था. उन्होंने दूसरे और तीसरे टी-20 मैच में शानदार अर्धशतक लगाया और सीरीज को ड्रॉ कराने में मदद की. 39 साल के इस खिलाड़ी ने पीएसएल 2020 (PSL 2020) के 13 मैचों में 312 रन बनाए और टूर्नामेंट के तीसरे सबसे बड़े रन स्कोरर बने. उन्होंने लाहौर कलंदर्स (Lahore Qalanders) को फाइनल में पहुंचाने में अहम योगदान दिया

वहीं शोएब मलिक (Shoaib Malik) की बात करें तो वो फिलहाल 38 साल के हैं और वो इंटरनेशनल क्रिकेट में अच्छे फॉर्म में नहीं हैं. हालांकि पाकिस्तान सुपर लीग 2020 (Pakistan Super League) में पेशावर जल्मी (Peshawar Zalmi) की तरफ से खेलते हुए उन्होंने 9 मैचों में 278 रन बनाए, जिसमें 3 अर्धशतक शामिल हैं. वो इस टूर्नामेंट के 5वें सीजन में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले 7वें बल्लेबाज हैं.

रमीज राजा ने कहा है कि, ‘ये पाकिस्तानियों की सामान्य मानसिकता है कि वर्ल्ड कप में मैच जीतने के लिए कई अनुभवी खिलाड़ियों की जरूरत होती है. मैं तजुर्बे की अहमियत को समझता हूं, लेकिन फिर भी मैं मानता हूं कि युवा खिलाड़ियों के लिए इतनी जगह होनी चाहिए कि वो आएं और अच्छा प्रदर्शन करें. अनुभव को नकारा नहीं जा सकता उसी तरह 37 या 38 साल के खिलाड़ियों के सहारे भी रहना सही नहीं है, जब वो एक नहीं 3 या 4 हों.’

मोहम्मद हफीज ने इस कमेंट को लेकर रमीज राजा पर तंज कसते हुए कहा, ‘पाकिस्तान क्रिकेट के लिए एक खिलाड़ी के तौर पर रमीज के योगदान को मैं नकार नहीं रहा हूं. मैं उनके विचार का सम्मान करता हूं, लेकिन उनके क्रिकेट की समझ और खेल के प्रति उनकी जागरूकता को लेकर मुझे संदेह है. अगर आप मेरे 12 साल के बेटे से बात करेंगे तो उसके खेल की समझ रमीज भाई से बेहतर है.’



Source link

Continue Reading

खेल

गलती से Shahid Afridi से हो गया ये काम, अब LPL 2020 में नहीं खेल पाएंगे पहले दो मैच!

Published

on

By

लाहौर: पाकिस्तान के हरफनमौला शाहिद अफरीदी (Shahid Afridi) की श्रीलंका की फ्लाइट छूट गई जिससे वह शुरुआती लंका प्रीमियर लीग (Lanka Premier League 2020) में अपनी फ्रेंचाइजी गॉल ग्लैडिएटर्स के कम से कम पहले दो मैचों में उपलब्ध नहीं हो पाएंगे.

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान अफरीदी ने इस घटना के बारे में ट्वीट किया जिसमें टूर्नामेंट के आयोजन की परेशानी और बढ़ गई क्योंकि पहले ही कई बड़े खिलाड़ी इससे हट गये हैं.

एक बार फिर सुरेश रैना ने दिखाई दरियादिली, अपने 34वें जन्मदिन पर करेंगे ये नेक काम

अफरीदी (Shahid Afridi) ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, ‘आज सुबह कोलंबो की फ्लाइट छूट गई. चिंता की कोई बात नहीं, मैं जल्द ही एलपीएल में गॉल ग्लैडिएटर्स की ओर से हिस्सा लेने के लिए पहुंच जाऊंगा. जल्द ही टीम के साथियों के साथ जुड़ने के लिए तैयार हूं’.

 

गॉल ग्लैडिएटर्स को अपना पहला मैच 27 नवंबर को जाना स्टैलियन के खिलाफ खेलना था जबकि उसे दूसरा और तीसरा मैच क्रमश: 28 और 30 नवंबर को खेलना है.

अफरीदी (Shahid Afridi) को गॉल ग्लैडिएटर्स का कप्तान बनाया गया था क्योंकि श्रीलंका के तेज गेंदबाज लसिथ मलिंगा और पाकिस्तानी विकेटकीपर बल्लेबाज सरफराज अहमद क्रमश: तैयारियों की कमी और राष्ट्रीय टीम की प्रतिबद्धताओं के कारण उपलब्ध नहीं हो पाये थे.

VIDEO: WBBL में Alyssa Healy ने ठोका शतक, पति Mitchell Starc ने दिया ये रिएक्शन

अफरीदी की अनुपस्थिति में उप कप्तान भानुका राजपक्षे पहले कुछ मैचों में ग्लैडिएटर्स की कप्तानी कर सकते हैं.

(इनपुट-भाषा)



Source link

Continue Reading

खेल

पिता के इंतकाल के बाद मोहम्मद सिराज की मां ने फोन पर कही ये बातें

Published

on

By

सिडनी: अपने पिता के निधन के बावजूद परिवार से दूर भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज (Mohammed Siraj) ने पहली बार सामने आकर बयान दिया है. उन्होंने बताया कि उनकी मां ने उन्हे क्या सलाह दी है.

उन्होंने कहा, ‘अम्मी ने कहा कि एक दिन सभी को जाना होता है. आज तुम्हारे पिता गए, कल मैं हो सकती हूं. वही करो जो तुम्हारे पिता चाहते थे. भारत के लिए खेलो. शायद वह शारीरिक रूप से मौजूद नहीं हो लेकिन मैं महसूस कर सकता हूं कि वह हमेशा मेरे साथ मौजूद हैं’.

वहीं ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ कड़ी सीरीज की तैयारी में कप्तान विराट कोहली की ‘मजबूत बनाने’ की सलाह ने उनकी काफी मदद की है.

कोहली भी पेशेवर जिम्मेदारियों को निभाते हुए निजी त्रासदी का सामना कर चुके हैं. कोहली 2007 में जब किशोर थे तब रणजी ट्रॉफी मैच के दौरान उनके पिता का निधन हो गया था लेकिन उन्होंने अगले दिन मैदान पर वापसी करते हुए दिल्ली की ओर से 97 रन की शानदार पारी खेली.

लगातार रो रहे हैं मोहम्मद सिराज, कहा ‘AUS के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीतकर पिता को दूंगा श्रद्धांजलि’

सिराज (Mohammed Siraj) के पिता मोहम्मद गौस का पिछले हफ्ते फेफड़ों से जुड़ी बीमारी के कारण हैदराबाद में निधन हो गया. वह 53 बरस के थे. भारतीय क्रिकेट बोर्ड (BCCI) ने सिराज को स्वदेश वापस लौटने का विकल्प दिया था लेकिन इस तेज गेंदबाज ने राष्ट्रीय टीम की ओर से खेलने का फैसला किया.

26 साल के सिराज ने यहां भारतीय टीम के ट्रेनिंग सत्र के इतर कहा, ‘विराट भाई ने कहा कि मियां तनाव मत लो और मजबूत बनो. तुम्हारे पिता चाहते थे कि तुम भारत के लिए खेलो. इसलिए ऐसा करो और तनाव मत लो’.

उन्होंने कहा, ‘कप्तान ने मुझे कहा कि अगर इस स्थिति में तुम मजबूत बन पाए तो इससे तुम्हें मदद ही मिलेगी. ये भारतीय कप्तान के सकारात्मक शब्द थे और उन्हें सुनकर काफी अच्छा लगा’.

क्रिकेटर के रूप में सिराज के शुरुआती वर्षों में उनके पिता ऑटो रिक्शा चलाते थे और इस क्रिकेटर पर उनका काफी प्रभाव है.

उन्होंने कहा, ‘यह मेरे लिए काफी बड़ा नुकसान है क्योंकि वह मेरे सबसे बड़े समर्थक थे. वह चाहते थे कि मैं अपने देश के लिए चमकू और मैं अब उनके सपनों को साकार करना चाहता हूं’.

David Warner के पारिवारिक जीवन पर पड़ रहा है असर, जानिए वजह

सिराज (Mohammed Siraj) ने अपना साथ देने वाले टीम के अपने साथियों को भी धन्यवाद दिया.

उन्होंने कहा, ‘मैं टीम के अपने साथियों का आभारी हूं कि उन्होंने इस मुश्किल समय में मेरा साथ दिया और हर चीज का ख्याल रखा’.

सिराज ने कहा कि उनकी मां ने भी उन्हें दौरे से वापसी नहीं लौटने की सलाह दी जिसकी शुरुआत 27 नवंबर से सीमित ओवरों के मुकाबले के साथ होगी.

(इनपुट-भाषा)



Source link

Continue Reading

Trending