Connect with us

प्रौद्योगिकी

रविशंकर प्रसाद बोले- कोरोना काल में Apple की 9 यूनिट चीन से भारत शिफ्ट हुईं

Published

on

रविशंकर प्रसाद (फाइल फोटो)

रविशंकर प्रसाद (फाइल फोटो)

बेंगलुरु टेक समिट के 23वें एडिशन के उद्घाटन सत्र में रविशंकर प्रसाद ने दावा किया कि कोरोना काल में एप्पल की 9 ऑपरेटिंग यूनिट चीन से भारत में शिफ्ट हुईं.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 20, 2020, 5:49 PM IST

नई दिल्ली. केंद्रीय संचार, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना तकनीक और कानून व न्याय मंत्री रविशंकर प्रसाद (Ravi Shankar Prasad) ने कहा कि आईफोन (iPhone) बनाने वाली कंपनी एप्पल (Apple) बड़े पैमाने पर भारत में अपना करोबार ला रहा है. गुरुवार को आयोजित  ‘बेंगलुरु टेक समिट-2020’ (Bengaluru Tech Summit) के 23वें एडिशन के उद्घाटन सत्र में रविशंकर प्रसाद ने दावा किया कि कोरोना काल में एप्पल की 9 ऑपरेटिंग यूनिट चीन से भारत में शिफ्ट हुईं.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मोबाइल मैन्युफैक्चरिंग में तेजी को देखते हुए हम प्रोडक्शन लिंक्ड इंसेंटिव (PLI) के विचार के साथ आए. इससे पहले प्रसाद ने पहले कहा था कि सैमसंग, फॉक्सकॉन, राइजिंग स्टार, विस्ट्रॉन और पेगाट्रॉन पीएलआई स्कीम के तहत आवेदन दाखिल किए हैं.

ये भी पढ़ें- पटरी पर लौट रही इकोनॉमी! आम आदमी से लेकर मोदी सरकार को भी खुश कर देंगे ये आंकड़े

बेंगलुरु टेक समिट का पीएम मोदी ने किया उद्घाटन, कही ये बाततीन दिनों तक चलने वाले ‘बेंगलुरु टेक समिट-2020’ का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को उद्घाटन किया. इस मौके पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार का मॉडल ‘टेक्निकल फर्स्ट’ है जिसका इस्तेमाल लोगों के जीवन में बहुत बदलाव लेकर आया है और इसके जरिए लोगों की गरिमा में वृद्धि हुई है. इस कार्यक्रम में दुनियाभर में टेक्निकल एक्सपर्ट, शोधकर्ताओं समेत कई लोग शामिल हो रहे हैं.

पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार का ‘डिजिटल इंडिया’ कार्यक्रम आज लोगों की जीवनशैली बन गया है, खासकर उन लोगों की जो गरीब हैं, हाशिए पर हैं तथा जो सरकार में हैं. उन्होंने कहा, ”पांच साल पहले हमने डिजिटल इंडिया की शुरुआत की थी. मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि इसे सरकार की किसी सामान्य पहल की तरह नहीं देखा जा रहा है. डिजिटल इंडिया जीवनशैली बन गया है, खासकर उन लोगों की जो गरीब और हाशिए पर हैं तथा जो सरकार में हैं.”



Source link

प्रौद्योगिकी

जल्द लॉन्च होगा बजट स्मार्टफोन Samsung Galaxy A12, पता चल गए ये खास फीचर्स

Published

on

By

File Photo: Samsung galaxy A10s

File Photo: Samsung galaxy A10s

गीकबेंच लिस्टिंग (geekbench listing) से पता चला है कि फोन MediaTek Helio P35 प्रोसेसर के साथ आएगा. सॉफ्टवेयर की बात करें तो ये एंड्रॉयड 10 out-of-the-box पर काम करेगा.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 24, 2020, 8:55 AM IST

सैमसंग (Samsung) के नए स्मार्टफोन गैलेक्सी A12 को बहुत जल्द लॉन्च किया जा सकता है. फिलहाल फोन की लॉन्च डेट तो सामने नहीं आई है, लेकिन फोन को ब्लूटूथ सर्टिफिकेशन (bluetooth certification) पर स्पॉट किया गया है. हालांकि लेटेस्ट लिस्टिंग से फोन के फीचर्स को लेकर कोई जानकारी नहीं मिली है. GMSArena की रिपोर्ट के मुताबिक गैलेक्सी A12 (galaxy A12) मॉडल नंबर SM-A125D_DSN के साथ लिस्ट है. गीकबेंच लिस्टिंग (geekbench listing) से पता चला है कि फोन MediaTek Helio P35 प्रोसेसर के साथ आएगा. सॉफ्टवेयर की बात करें तो ये एंड्रॉयड 10 out-of-the-box पर काम करेगा.

कहा जा रहा है कि फोन 3GB RAM ऑप्शन के साथ आ सकता है. हालांकि वेबसाइट से मिली जानकारी के मुताबिक फोन और भी RAM के और ऑप्शन के साथ आने की उम्मीद है. रिपोर्ट्स की मानें तो सैमसंग गैलेक्सी A12 में 64GB और 32GB की इंटरनल स्टोरेज होगी. बाकी अफवाहों का कहना है कि फोन में TFT डिस्प्ले और साइड माउंटेड फिंगरप्रिंट सेंसर दिया जाएगा. माना जा रहा है कि सैमसंग का ये फोन बजट सेगमेंट का होगा, जिसे इसी महीने या दिसंबर में लॉन्च किया जा सकता है.

(ये भी पढ़ें-Airtel का सबसे सस्ता प्लान! सिर्फ 19 रुपये में मिलती है अनलिमिटेड कॉलिंग, इंटरनेट डेटा भी…) 

सैमसंग गैलेक्सी A12 कंपनी के पुराने फोन Galaxy A11 का सक्सेसर फोन होगा, जिसे इसी साल मार्च में लॉन्च किया गया था. गैलेक्सी A11 में 6.04 इंच का डिस्प्ले दिया जाता है. ये फोन 1.8GHz ऑक्टा-कोर प्रोसेसर के साथ 2GB और 3GB स्टोरेज के साथ आता है.ये फोन ट्रिपल रियर कैमरे के साथ आता है, जिसमें 13 मेगापिक्सल का प्राइमेरी कैमरा, 2 मेगापिक्सल और 5 मेगापिक्सल के कैमरे दिए गए हैं. पावर के लिए फोन में 4,000mAh की बैटरी दी गई है.

(ये भी पढ़ें-  OFFER! सिर्फ 8,999 रुपये है Realme के इस 6000mAh बैटरी वाले फोन की कीमत, 1.5 लाख से ज़्यादा लोगों की बना पसंद)

जानकारी के लिए बता दें कि Samsung एक और नए फोन  गैलेक्सी M12 पर भी काम कर रहा है. लीक हुए रेंडर्स के मुताबिक सैमसंग गैलेक्सी M12 हाल ही में लॉन्च हुए Galaxy A42 5G जैसा दिख रहा है. नया स्मार्टफोन प्लास्टिक यूनीबॉडी बैक पैनल, फ्लैट फ्रंट और रियर पर स्क्वैर कैमरा मॉड्यूल को सपोर्ट करेगा. मॉड्यूल में 4 सेंसर मौजूद हैं और मॉड्यूल के नीचे फ्लैश भी देखा जा सकता है. इस फोन के 2021 की शुरुआत में लॉन्च होने की उम्मीद है.



Source link

Continue Reading

प्रौद्योगिकी

इंटरनेट पर आपका डेटा सुरक्षित करने में जुटा 21 साल का ये युवा, विश्व के तीसरे सबसे बड़े एथिकल हैकर में शुमार

Published

on

By

नई दिल्ली. आज के समय में हमारे निजी और सार्वजनिक जीवन से जुड़ा हुआ तमाम महत्वपूर्ण डेटा इंटरनेट पर मौजूद है. ऐसे में इंटरनेट हैकर आपके महत्वपूर्ण डेटा को चुराकर आपको आर्थिक व समाजिक तौर पर नुकसान पहुंचाने के लिए दिन-रात प्रयास करते हैं. पिछले दिनों देश के सबसे बड़े ऑनलाइन लर्निंग प्लेटफॉर्म अनएकेडमी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की निजी वेबसाइट व ट्विटर अकाउंट को हैक करने का मामला सामने आया. इन दोनों ही मामले ने साबित किया है कि इंटरनेट पर मौजूद किसी भी डेटा को हैकर से बचाना न सिर्फ मुश्किल बल्कि चुनौतीपूर्ण भी है. यही वजह है कि एथिकल हैकर इंटरनेट पर मौजूद बड़े वेबसाइट या फिर आपके विभिन्न अकाउंट के लूपहोल्स को दूर कर आपके डेटा को सुरक्षित करने का काम करते हैं.

ऐसे समय में इंक-42 रिपोर्ट की मानें तो अपने देश के लिए एक अच्छी बात यह है कि बग बाउंटी के क्षेत्र में अमेरिका को पीछे छोड़कर भारत दुनिया में पहले नंबर पर आता है. वहीं, अभी हाल के दिनों में आनंद प्रकाश भारत के एक ऐसे ही युवा एथिकल हैकर हैं जो दुनिया भर में अपनी साख जमा रहे हैं.

भारत में बग बाउंटी व एथिकल हैकिंग के क्षेत्र में पिछले कई वर्षों से आनंद प्रकाश शीर्ष स्थान पर बने हुए हैं. फेसबुक की मानें तो 2014 और 2016 में आनंद प्रकाश दुनिया के दूसरे सबसे बड़े एथिकल हैकर थे. वहीं, उबर ने रैंकिंग जारी करते हुए आनंद प्रकाश को अभी हाल में दुनिया के चौथे नंबर का एथिकल हैकर बताया है. ट्विटर की मानें तो आनंद प्रकाश दुनिया के तीसरे सबसे बड़े और कामयाब एथिकल हैकर हैं. इस तरह साफ है कि दुनिया में भारत का सर गर्व से उंचा करने वाले इस राजस्थानी नौजवान (आनंद प्रकाश) ने गलत तरीके से डेटा चुराने वाले दुनिया के बड़े से बड़े इंटरनेट हैकर के इरादे पर पानी फेर दिया है.

यह भी पढ़ें: महंगा होने जा रहा आपके मोबाइल का रिचार्ज प्लान, अगले महीने से बढ़ सकता है टैरिफजानें आनंद प्रकाश कौन हैं कहां के रहने वाले हैं?
राजस्थान के झूंझनू जिले के रहने वाले आनंद प्रकाश बेंगलुरु से वेब ऐप सिक्युरिटी बेस्ड ब्लॉग चलाते हैं और वो प्रोडक्ट सर्विस इंजीनियर भी हैं. कुछ समय पहले तक वो फेसबुक व्हाइट हैट बग बाउंटी प्रोग्राम में टॉप हैकर्स में से एक रहे हैं. फेसबुक ने इनको अब तक 10 लाख रुपये से भी ज्यादा पैसे बतौर इनाम दिए हैं. इसी तरह इंडियन हैकर आनंद प्रकाश ने कुछ समय पहले कैब सर्विस प्रोवाइडर उबर में एक ऐसी खामी ढूंढी थी, जिससे अनलिमिटेड फ्री राइड ली जा सकती थी. इस काम के लिए उन्हें कंपनी ने 9 लाख रुपये बतौर इनाम दिए थे.

हैकर आनंद प्रकाश के नाम ये रिकॉर्ड दर्ज है
बता दें कि फेसबुक ही नहीं, आनंद ने कई पॉपुलर वेबसाइट्स में कमियों और बग्स का पता लगाया है. फेसबुक हमेशा ही उनका फेवरेट रहा और उन्हें ढेरों बग्स इस साइट पर मिलेगा. इतना ही नहीं, आनंद अब इस सोशल नेटवर्किंग साइट के टॉप-3 रिसर्चर्स में जगह बना चुके हैं. टॉप एथिकल हैकर्स की एनुअल वाइट लिस्ट में भी उनका नाम शामिल किया गया है. फेसबुक के अलावा आनंद ट्विटर और गूगल में भी बग्स का पता लगा चुके हैं. वह उबर, गिटहब, नोकिया, साउंडक्लाउड, ड्रॉपबॉक्स, पेपाल और बाकी साइट्स के बग-बाउंटी प्रोग्राम में भी हिस्सा ले चुके हैं.

यह भी पढ़ें: iPhone में अपने एप्स के लिए गूगल ला रहा है नए विजेट्स

महज 21 साल की उम्र में इंटरनेट हैकिंग के क्षेत्र में बने बादशाह
आनंद प्रकाश कम उम्र में फेसबुक, ऊबर और ट्विटर जैसी कंपनियों के सॉफ्टवेयर में गड़बड़ी तलाश कर बग बाउंटी के रूप में काम करने के लिए जाने जाते हैं. 21 साल की उम्र में आनंद प्रकाश ने सबसे पहले हैकिंग की तो उन्होंने फेसबुक बग बाउंटी में हिस्सा लिया.

वो कहते हैं कि हैकिंग के ज़रिए जब आप बग बाउंटी का काम करते हैं तो आपको ईनाम का पैसा तो मिलता है, पहचान भी मिलती है और साथ में आपका करियर भी बन जाता है. ये युवाओं के लिए काफ़ी अच्छा साबित होता है. इन सबके अलावा जिज्ञासा भी होती है क्योंकि डेवेलपर तो हर कोई होता है लेकिन हैकर कम ही लोग होते हैं.



Source link

Continue Reading

प्रौद्योगिकी

महंगा होने जा रहा आपके मोबाइल का रिचार्ज प्लान, अगले महीने से बढ़ सकता है टैरिफ

Published

on

By

इन कंपनियों ने टैरिफ में 20 से 25 फीसदी तक की बढ़ोतरी की कवायद शुरू कर दी हैं.

इन कंपनियों ने टैरिफ में 20 से 25 फीसदी तक की बढ़ोतरी की कवायद शुरू कर दी हैं.

Mobile Tariff Hike: करीब एक साल पहले टेलिकॉम कंपनियों (Telecom Companies) वॉइस एवं डेटा सर्विस की दरें बढ़ाने की तैयारी में है. इस बार बढ़ोतरी के बाद फोन बिल पर 20 से 25 फीसदी तक ज्यादा खर्च करना पड़ सकता है. प्राइवेट सेक्टर की दो प्रमुख कंपनियों टैरिफ बढ़ोतरी का इशारा कर चुकी हैं.


  • News18Hindi

  • Last Updated:
    November 23, 2020, 10:41 PM IST

नई दिल्ली. नये साल की शुरुआत में आपको फोन बिल पर 20 से 25 फीसदी तक ज्यादा खर्च करना पड़ सकता है. भारती एयरटेल (Bharti Airtel) और वोडाफोन आइडिया (Vi) जैसी प्राइवेट सेक्टर की कंपनियां अब अपनी सेवाओं के लिए एक बार फिर टैरिफ को रिवाइज कर सकती हैं. इसके पहले दिसंबर 2019 में टेलिकॉम कंपनियों (Telecom Companies) ने टैरिफ में बढ़ोतरी की थी. प्राइवेट सेक्टर की इन टेलिकॉम कंपनियों का मानना है कि वॉइस एवं डेटा सर्विसेज के लिए मौजूदा पर इंडस्ट्री में बने रहना मुश्किल है. यही कारण है कि इन कंपनियों के प्रतिनिधि भी टेलिकॉम रेगुलेटरी एवं डेवलपमेंट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) के साथ बातचीत कर रहे हैं.

दिसंबर से बढ़ सकती हैं दरें
संभव है कि भारती एयरटेल और वोडाफोन-आ​इडिया इस साल के अंत तक टैरिफ में इजाफा करने का ऐलान कर दें. इन कंपनियों ने टैरिफ में 20 से 25 फीसदी तक की बढ़ोतरी की कवायद शुरू कर दी हैं. बीते कुछ समय में वोडाफोन-आइडिया के ग्राहकों की संख्या में बड़ी गिरावट देखने को मिली है.

यह भी पढ़ें: 5000 से कम दाम में खरीदें 5 बेस्ट वायरलेस ईयरफोन, जबरदस्त बैटरी बैकअप के साथ बेहतरीन साउंड

रविंदर टक्कर ने दिए थे संकेत
अब इस कंपनी ने ट्राई से गुहार लगाई है कि वॉइस एवं डेटा सर्विसेज के ​लिए दरों में इजाफा किया जाए ताकि टेलिकॉम सेक्टर में प्रतिस्पर्धा बना रहे. हाल ही में Vi के सीईओ रविंदर टक्कर (Ravinder Takkar) ने कहा था कि टेलिकॉम कंपनियों को वॉइस एवं डेटा सर्विसेज की टैरिफ में इजाफा करने से हिचकना नहीं चाहिए. उन्होंने कहा कि Vi आने वाले दिनों सबसे पहले टैरिफ बढ़ाने का ऐलान कर सकती है.

यह भी पढ़ें: iPhone में अपने एप्स के लिए गूगल ला रहा है नए विजेट्स

एयरटेल की भी तैयारी
बीते रविवार को ही भारती एयरटेल के चेयरमैन सुनील भारती मित्तल (Sunil Bharti Mittal) ने कहा कि अभी मोबाइल सर्विस की दरें तार्किक नहीं हैं. मौजूदा दरों पर  बाजार में बने रहना मुश्किल है, इसलिए दरों में बढ़ोतरी जरूरी है. उन्होंने कहा कि इस बारे में कोई निर्णय लेने से पहले बाजार की परिस्थितियों को देखा जाएगा. इसके पहले उन्होंने अगस्त महीने में कहा था कि 160 रुपये में एक महीने के लिए 16 जीबी डेटा देना त्रासदी है. उन्होंने कहा था कि टिकाऊ कारोबार के लिए प्रति ग्राहक औसत राजस्व को पहले 200 रुपये और धीरे-धीरे बढ़कर 300 रुपये तक पहुंचना चाहिए.



Source link

Continue Reading

Trending