Connect with us

ताज़ा खबर

विकास दुबे के सहयोगी जयकांत बाजपेयी के खिलाफ लगाया गया गैंगस्टर एक्ट

Published

on

विकास दुबे के सहयोगी जयकांत बाजपेयी के खिलाफ लगाया गया गैंगस्टर एक्ट

जयकांत बाजपेयी के खिलाफ पुलिस ने लगाया गैंगस्टर एक्ट (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश पुलिस की तरफ से विकास दुबे गैंग पर लगातार कार्रवाई की जा रही है.कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे के साथी जयकांत बाजपेयी के खिलाफ गुरुवार को गैंगस्टर एक्ट लगाया गया. अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने गुरुवार  देर रात एक बयान में बताया कि जयकांत बाजपेयी के विरूद्ध गिरोह बनाकर अपराध करने व अवैध संपत्ति अर्जित करने के संबंध में थाना नजीराबाद कानपुर में उप्र गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है.  गैंग के अन्य सदस्यों में उसके भाई शोभित बाजपेयी, रजयकांत बाजपेयी तथा अजयकांत बाजपेयी शामिल है. 

यह भी पढ़ें

विकास दुबे का जिक्र करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने एक अन्य आरोपी को जमानत देने से किया इनकार

अपर मुख्य सचिव ने कहा  कि जयकांत बाजपेयी व उसके साथियों का एक संगठित गिरोह है जो सरकारी जमीन पर कब्जा करता है और कानून के विरूद्ध काम करता है. अपने गिरोह के सदस्यों के आर्थिक लाभ के लिये धन अर्जित कर समाज विरोधी क्रिया कलाप करता है.  इससे पहले 27 जुलाई  को उत्तर प्रदेश सरकार ने जनपद कानपुर नगर के अभियुक्त जयकान्त बाजपयी द्वारा अवैध रूप से अर्जित की गई सम्पत्ति की जांच आयकर विभाग तथा प्रवर्तन निदेशालय से कराये जाने का अनुरोध द्वारा किया था. जयकांत मारे गये गैंगस्टर विकास दुबे का खास सहयोगी और खजांची माना जाता था.

(न्यूज एजेंसी भाषा के इनपुट के साथ)

VIDEO: सुप्रीम कोर्ट के रिटायर जज करेंगे विकास दुबे मामले की जांच

Source link

Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

ताज़ा खबर

दिल्ली : मनीष सिसोदिया बोले- 5 साल में बजट में 70% की वृद्धि के बावजूद कर्मचारियों को वेतन देने में क्यों असमर्थ हैं कॉलेज 

Published

on

By

दिल्ली : मनीष सिसोदिया बोले- 5 साल में बजट में 70% की वृद्धि के बावजूद कर्मचारियों को वेतन देने में क्यों असमर्थ हैं कॉलेज 

मनीष सिसोदिया ने दिल्ली सरकार के वित्तपोषित DU के कॉलेजों के प्रति कड़ा ऐतराज जताया (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने सरकार द्वारा 70 प्रतिशत बजट में वृद्धि करने के बावजूद कर्मचारियों को वेतन देने में असमर्थता व्यक्त करने पर दिल्ली सरकार के वित्त पोषित दिल्ली विश्वविद्यालय के कॉलेजों के प्रति गुरुवार को कड़ा ऐतराज जताया. उपमुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले 5 वर्षों में बजट आवंटन में 70 प्रतिशत की वृद्धि के बावजूद दिल्ली सरकार द्वारा वित्तपोषित डीयू कॉलेजों की वेतन देने में असमर्थता भ्रष्टाचार की ओर इशारा करती है. 

सिसोदिया ने प्रेस विज्ञप्ति में यह भी कहा कि डीयू कॉलेजों के प्रशासन पर भ्रष्टाचार के कई आरोप लगे हैं. भ्रष्टाचार के कारण ये कॉलेज गवर्निंग बॉडी बनाने में देर कर रहे हैं और दिल्ली सरकार मनोनित सदस्यों को लेने से इन्कार कर रहे हैं. उन्होंने पिछले महीने डीयू के कुलपति को इन भ्रष्टाचार के आरोपों के बारे में लिखा था, लेकिन उन्हें अभी तक कोई जवाब नहीं मिला है. दिल्ली सरकार ने इन कॉलेजों के लिए बजट आवंटन में 70 प्रतिशत की वृद्धि की है. 

दिल्ली सरकार ने 2014-15 में डीयू के कॉलेजों के बजट को 144.39 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 2019-20 में 242.64 करोड़ रुपये और 2020-21 में 243 करोड़ रुपये कर दिया है. पांच वर्षों में बजट आवंटन में लगभग 70 प्रतिशत की वृद्धि के बावजूद, डीयू बजट की कमी की शिकायत कर रहा है. डीयू का पिछले साल (2019-20) का 242.64 रुपये का बजट उनके सभी खर्चों को पूरा करने के लिए पर्याप्त था, पिछले साल (2018-19) का बजट 216.13 करोड़ रुपये उनके खर्चों को पूरा करने के लिए पर्याप्त था. पिछले दो वर्षों में 27 करोड़ रुपये के फंड आवंटन में वृद्धि के बावजूद डीयू क्यों कह रहा है कि बजट पर्याप्त नहीं है. 

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि 2020-21 के लिए 243 करोड़ रुपये के बजट में से, 56.25 करोड़ रुपये (बजट का करीब 23 प्रतिशत) पहले ही जुलाई 2020 के अंत तक जारी किए जा चुके हैं. इसलिए डीयू कॉलेज अप्रैल, मई और जून के लिए वेतन का भुगतान करने में सक्षम क्यों नहीं हैं. डीयू कॉलेजों के अलावा, दिल्ली सरकार और भी कई विश्वविद्यालयों को फंड प्रदान करती है, जो सीधे सरकार के शिक्षा विभाग के प्रशासन के अंतर्गत आते हैं. हम कभी भी उनके यहां फंड की कमी होने या अपने कर्मचारियों को वेतन देने में असमर्थ होने की बात नहीं सुनते हैं. 

सिसोदिया ने कहा कि पिछले 5 वर्षों में बजट आवंटन में 70 प्रतिशत वृद्धि के बावजूद कर्मचारियों के वेतन का भुगतान करने के लिए दिल्ली सरकार द्वारा वित्त पोषित डीयू कॉलेजों की अक्षमता भ्रष्टाचार की ओर इशारा करती है. कारण स्पष्ट है कि डीयू के कॉलेज प्रशासन में भ्रष्टाचार के कई आरोप लगे हैं. 

दिल्ली सरकार द्वारा वित्त पोषित डीयू कॉलेजों को प्रदान किए गए बजट का विवरण

2012-13 – 121.82 करोड़ रुपये

2013-14 – 140.65 करोड़ रुपये

2014-15 – 144.39 करोड़ रुपये

2015-16 – 181.94 करोड़ रुपये

2016-17 – 197 करोड़ रुपये

2017-18 – 214.78 करोड़ रुपये

2018-19 – 216.13 करोड़ रुपये

2019-20 – रुपये 242.64 करोड़

2020-21 – 243 करोड़ रुपये

Source link

Continue Reading

ताज़ा खबर

भूमि पूजन के बाद भगवान राम की कुलदेवी ”बड़ी देवकाली” मंदिर में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं के आने की उम्मीद

Published

on

By

मंदिर के महंत सुनील पाठक ने कहा, ”बड़ी देवकाली के मंदिर को लेकर इस इलाके में…

Source link

Continue Reading

ताज़ा खबर

Shatrughan Sinha राम मंदिर शिलान्यास से हुए अभिभूत, बोले- जब कमल का राज आएगा तभी…

Published

on

By

Shatrughan Sinha राम मंदिर शिलान्यास से हुए अभिभूत, बोले- जब कमल का राज आएगा तभी...

राम मंदिर भूमिपूजन (Ram Mandir Bhumi Pujan) को लेकर शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने किया ट्वीट

खास बातें

  • राम मंदिर शिलान्यास को लेकर शत्रुघ्न सिन्हा ने किया ट्वीट
  • भूमि पूजन समारोह के लिए खुश नजर आए बॉलीवुड एक्टर
  • शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि जब कमल का राज आएगा तभी…

नई दिल्‍ली:

अयोध्या (Ayodhya) में राम मंदिर निर्माण (Ram Temple) के लिए भूमि पूजन की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं. राम मंदिर भूमिपूजन (Ram Mandir Bhumi Pujan) के लिए पीएम नरेंद्र मोदी (PM Modi) भी अयोध्या के लिए रवाना हो चुके हैं. इस आयोजन को लेकर बॉलीवुड अभिनेता और कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) भी अभिभूत नजर आए. उन्होंने ट्वीट कर राम मंदिर भूमि पूजन की लोगों को बधाई दी. इसके साथ ही शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्विटर पर 1818 का एक संयोग भी साझा किया, जिसमें उन्होंने बताया कि उस समय 2 आना के सिक्के पर एक तरफ रामदरबार अंकित था तो दूसरी तरफ कमल का फूल बना हुआ था. इसके साथ ही शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि जब कमल का राज आएगा, तभी अयोध्या में दीपोत्सव मनाया जाएगा.

यह भी पढ़ें

राम मंदिर भूमि पूजन (Ram Mandir Bhumi Pujan) को लेकर शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) का यह ट्वीट खूब सुर्खियां बटोर रहा है, साथ ही लोग इसपर जमकर कमेंट भी कर रहे हैं. अपने पहले ट्वीट में एक्टर ने लिखा, “बधाई! जय श्री राम! मुंबई में हमारा निवास स्थान ‘रामायण’ के रूप में जाना जाता है, इसलिए हमारा परिवार सच्चे अर्थों में रामायण वासी है. बस एक सुंदर और काफी जानकारीपूर्ण चीज प्राप्त हुई. इस भव्य और उपयुक्त दिन पर इस चीज को यहां साझा कर रहा हूं. आशा है कि काश यह सच हो. सही मायने में…”

शत्रुघ्न सिन्हा (Shatrughan Sinha) ने अपने ट्वीट में आगे लिखा, “एक संयोग ही कहा जाएगा 1818 में जो 2 आना सिक्का होता था, उसमें एकतरफ रामदरबार अंकित था और दूसरी तरफ कमल का फूल बना हुआ था. ऐसा प्रतीत होता है, यह संदेश था कि जब कमल का राज आएगा, अयोध्या में तभी दीपोत्सव मनाया जाएगा एवं भगवान श्री राम का भव्य मंदिर बनेगा.” बता दें कि शत्रुघ्न सिन्हा अपने विचारों को लेकर खूब जाने जाते हैं. वह अकसर सोशल मीडिया के जरिए समसामयिक मुद्दों पर बेबाकी से अपनी राय पेश करते हैं. वहीं, राम मंदिर भूमिपूजन की बात करें तो इस कार्यक्रम में पौने दो सौ लोग शामिल होंगे.

 



Source link

Continue Reading

Trending