Connect with us

प्रतापगढ़

UP board result 2020 date: Board of High School and Intermediate Education Uttar Pradesh to declare board exam 2020 result in third week of April 2020

Published

on

18 फरवरी से शुरू हो रही यूपी बोर्ड परीक्षा का परिणाम अप्रैल के तीसरे सप्ताह में घोषित करने की तैयारी है। इसके लिए मूल्यांकन का काम दस दिन में पूरा किया जाएगा। सचिव यूपी बोर्ड नीना श्रीवास्तव ने सभी जिला विद्यालयों निरीक्षकों से डेढ़ से दो गुना मूल्यांकन केंद्रों का प्रस्ताव मांगा है ताकि कॉपियां जल्दी जांची जा सके।

उपमुख्यमंत्री एवं माध्यमिक शिक्षा मंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने 27 नवंबर और 27 दिसंबर को वीडियो कान्फ्रेसिंग में बोर्ड सचिव को निर्देश दिए थे कि मूल्यांकन का काम कम समय में पूरा किया जाए। पिछले साल आठ से 25 मार्च के बीच 231 केंद्रों पर मूल्यांकन हुआ था। हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की उत्तरपुस्तिकाओं का मूल्यांकन क्रमश: 79,064 व 45,808 परीक्षकों ने किया था। इस बार 10 दिन में ही कॉपियां जांची जानी हैं।

बोर्ड सचिव ने सभी डीआईओएस को निर्देशित किया है कि 20 जनवरी तक संबंधित क्षेत्रीय कार्यालयों को मूल्यांकन केंद्रों का प्रस्ताव उपलब्ध कराएं। मूल्यांकन कार्य शुचितापूर्ण ढंग से सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में कराया जाएगा। आगे पढ़िए यूपी बोर्ड परीक्षा की खास बातें और देखें परीक्षा टाइम टेबल 2020 –

आंकड़ों पर एक नजर
27,405 स्कूल के छात्र-छात्राएं बोर्ड परीक्षा देंगे
30,25,442 परीक्षार्थी हाईस्कूल में
25,86,247 विद्यार्थी इंटरमीडिएट में

 

31 जनवरी को स्कूलों में पहुंच जाएंगे प्रवेश पत्र
यूपी बोर्ड परीक्षा 2020 के लिए 10वीं व 12वीं कक्षा के परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र 31 जनवरी तक स्कूलों को भेज दिए जाएंगे। बोर्ड जिला विद्यालय निरीक्षकों को 25 जनवरी तक परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्र, उपस्थिति पत्रक, परीक्षा केंद्रवार नामावली आदि उपलब्ध कराएगा। जो 31 जनवरी तक स्कूलों को भेजे जाएंगे। इसके बाद फरवरी के पहले सप्ताह में छात्र-छात्राओं को प्रवेश पत्र मिलेंगे। 

 

18 फरवरी से शुरू होंगी परीक्षाएं-
यूपी बोर्ड 2020 की परीक्षाओं का आयोजन 18 फरवरी 2020 से शुरू होंगी। हाईस्कूल की परीक्षाएं 12 और इंटरमीडिएट की परीक्षाएं 15 दिन तक चलेंगी।  15 से 25 मार्च तक सिर्फ दस दिनों में कॉपियों का मूल्यांकन होगा। 

 

56 लाख से ज्यादा विद्यार्थी देगें परीक्षा-
खस बात यह है कि यूपी बोर्ड परीक्षा 2020 में हाईस्कूल व इंटरमीडिएट परीक्षा में राज्यभर से 56 लाख से ज्यादा छात्र भाग लेंगे। 27405 स्कूलों के 56 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं ने बोर्ड परीक्षा 2020 के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है।

आपको बता दें कि यूपी बोर्ड परीक्षा 2019 का परिणाम रिकॉर्ड कम समय में परीक्षा के 19 दिन बाद ही जारी कर दिया गया है। इस साल भी उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (यूपी बोर्ड) कम से कम समय में परिणाम जारी करने के प्रयास में है।

यूपी बोर्ड परीक्षा टाइम-टेबल 2020-

 

up board datesheet 2020

 

up board datesheet 2020

 

up board datesheet 2020

 

up board datesheet 2020

 

up board datesheet 2020

 

up board datesheet 2020



Source link

प्रतापगढ़

Notice Of Attachment Of The House Of One And A Half Million Prize President –  डेढ़ लाख के इनामी सभापति के घर कुर्की का नोटिस चस्पा

Published

on

By

कुर्की की कार्रवाई
– फोटो : अमर उजाला

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

आसपुर देवसरा थाना क्षेत्र के विनैका गांव निवासी ब्लाक प्रमुखपति डेढ़ लाख के इनामी अपराधी सभापति यादव पर पुलिस प्रशासन लगातार शिकंजा कस रहा है। तीन माह पूर्व सितंबर महीने में उसके आवास के मुख्य द्वार पर हुई एक सभा में प्रदेश शासन के कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह मोती सिंह को जानलेवा धमकी दी गई थी। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। थानाध्यक्ष आसपुर देवसरा की तहरीर पर इस मामले में बलवा, आईटी एक्ट, लॉकडाउन उल्लंघन समेत विभिन्न धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई थी। सोमवार को सगे भाई सभापति यादव एवं सुभाष यादव तथा प्रेमचंद यादव के विरुद्ध कुर्की का नोटिस कोतवाली पुलिस द्वारा तामिल कराया गया। 

आसपुर देवसरा थाना थाने में दर्ज मुकदमे की विवेचना पट्टी कोतवाल नरेंद्र सिंह कर रहे हैं। कैबिनेट मंत्री को धमकी देने के मामले में मुख्य आरोपी चंदन यादव उर्फ बगड़ निवासी भूपतिपुर कादीपुर जनपद सुल्तानपुर तथा अखिलेश यादव पुत्र अर्जुन यादव निवासी धरौली आसपुर देवसरा अब तक फरार हैं।

इन दोनों आरोपियों के विरुद्ध अदालत द्वारा गैर जमानती वारंट जारी किया गया है। जबकि इसी मामले में फरार चल रहे डेढ़ लाख के इनामी अपराधी ब्लाक प्रमुखपति सभापति यादव व उसके सगे भाई सुभाष यादव तथा प्रेमचंद निवासी विनैका के विरुद्ध अदालत से धारा 82 के तहत नोटिस जारी किया गया है। जिसका तामिला कोतवाली पुलिस द्वारा गांव जाकर कराया गया।

नोटिस फरार आरोपियों के घर पर चस्पा किया गया है। मुकदमे में अन्य आठ नामजद आरोपियों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। अभी दो दिन पूर्व बीते 20 नवंबर को कोतवाली पुलिस  से मुठभेड़ के मामले में पुलिस ने सभापति यादव के घर पर कुर्की की कार्रवाई की थी। 

आसपुर देवसरा के विनैका गांव में दो दिन पूर्व डेढ़ लाख के इनामी अपराधी सभापति यादव के घर पुलिस द्वारा की गई कुर्की के मामले में सभापति की मां ने पुलिस के खिलाफ अदालत को गुमराह करते हुए कुर्की की कार्रवाई करने, महिलाओं से गालीगलौज, अभद्रता व तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया है। विनैका निवासी मंतोरा देवी पत्नी स्व. राजेंद्र प्रसाद यादव ने मुख्यमंत्री सहित आलाधिकारियों को भेजे गए शिकायती पत्र में आरोप लगाया है कि हाईकोर्ट लखनऊ में अग्रिम जमानत याचिका के लंबित रहते न्यायालय को गुमराह कर  20 नवंबर को उसके बेटे सभापति यादव व सुभाषचंद्र यादव के खिलाफ कुर्की की कार्रवाई की गई। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने उसके अलग रह रहे बेटे की संपत्ति कुर्क कर दी। पुलिस ने अभद्रता करते हुए जाते समय जेसीबी मशीन से उसके घर की चहारदिवारी, जानवर के खाने की चरही, गेट व भगवान श्री कृष्ण की पांच फिट की मूर्ति तोड़कर धार्मिक भावनाओं का अनादर किया।

आसपुर देवसरा थाना क्षेत्र के विनैका गांव निवासी ब्लाक प्रमुखपति डेढ़ लाख के इनामी अपराधी सभापति यादव पर पुलिस प्रशासन लगातार शिकंजा कस रहा है। तीन माह पूर्व सितंबर महीने में उसके आवास के मुख्य द्वार पर हुई एक सभा में प्रदेश शासन के कैबिनेट मंत्री राजेंद्र प्रताप सिंह मोती सिंह को जानलेवा धमकी दी गई थी। जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। थानाध्यक्ष आसपुर देवसरा की तहरीर पर इस मामले में बलवा, आईटी एक्ट, लॉकडाउन उल्लंघन समेत विभिन्न धाराओं में रिपोर्ट दर्ज की गई थी। सोमवार को सगे भाई सभापति यादव एवं सुभाष यादव तथा प्रेमचंद यादव के विरुद्ध कुर्की का नोटिस कोतवाली पुलिस द्वारा तामिल कराया गया। 

आसपुर देवसरा थाना थाने में दर्ज मुकदमे की विवेचना पट्टी कोतवाल नरेंद्र सिंह कर रहे हैं। कैबिनेट मंत्री को धमकी देने के मामले में मुख्य आरोपी चंदन यादव उर्फ बगड़ निवासी भूपतिपुर कादीपुर जनपद सुल्तानपुर तथा अखिलेश यादव पुत्र अर्जुन यादव निवासी धरौली आसपुर देवसरा अब तक फरार हैं।

इन दोनों आरोपियों के विरुद्ध अदालत द्वारा गैर जमानती वारंट जारी किया गया है। जबकि इसी मामले में फरार चल रहे डेढ़ लाख के इनामी अपराधी ब्लाक प्रमुखपति सभापति यादव व उसके सगे भाई सुभाष यादव तथा प्रेमचंद निवासी विनैका के विरुद्ध अदालत से धारा 82 के तहत नोटिस जारी किया गया है। जिसका तामिला कोतवाली पुलिस द्वारा गांव जाकर कराया गया।

नोटिस फरार आरोपियों के घर पर चस्पा किया गया है। मुकदमे में अन्य आठ नामजद आरोपियों को पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। अभी दो दिन पूर्व बीते 20 नवंबर को कोतवाली पुलिस  से मुठभेड़ के मामले में पुलिस ने सभापति यादव के घर पर कुर्की की कार्रवाई की थी। 

आसपुर देवसरा के विनैका गांव में दो दिन पूर्व डेढ़ लाख के इनामी अपराधी सभापति यादव के घर पुलिस द्वारा की गई कुर्की के मामले में सभापति की मां ने पुलिस के खिलाफ अदालत को गुमराह करते हुए कुर्की की कार्रवाई करने, महिलाओं से गालीगलौज, अभद्रता व तोड़फोड़ करने का आरोप लगाया है। विनैका निवासी मंतोरा देवी पत्नी स्व. राजेंद्र प्रसाद यादव ने मुख्यमंत्री सहित आलाधिकारियों को भेजे गए शिकायती पत्र में आरोप लगाया है कि हाईकोर्ट लखनऊ में अग्रिम जमानत याचिका के लंबित रहते न्यायालय को गुमराह कर  20 नवंबर को उसके बेटे सभापति यादव व सुभाषचंद्र यादव के खिलाफ कुर्की की कार्रवाई की गई। इस दौरान पुलिसकर्मियों ने उसके अलग रह रहे बेटे की संपत्ति कुर्क कर दी। पुलिस ने अभद्रता करते हुए जाते समय जेसीबी मशीन से उसके घर की चहारदिवारी, जानवर के खाने की चरही, गेट व भगवान श्री कृष्ण की पांच फिट की मूर्ति तोड़कर धार्मिक भावनाओं का अनादर किया।

Source link

Continue Reading

प्रतापगढ़

मातमी चीख से टूट रहा जिरगापुर का सन्नाटा

Published

on

By

सड़क हादसे में अपनों को गंवाने वाले परिवारों में मातम पसरा है। चौथे दिन भी परिजनों की चीख से जिरगापुर का सन्नाटा रह रहकर टूट रहा था। बड़े हों या बच्चे…

Source link

Continue Reading

प्रतापगढ़

पीएम आवास की पात्रता सूची में खेल, एसडीएम से शिकायत

Published

on

By

पीएम आवास की पात्रता सूची में खेल, एसडीएम से शिकायत

Source link

Continue Reading

Trending